पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

Rate this post

सेक्स न केवल व्यक्ति की शारीरिक ज़रूरतों को पूरा करता है, बल्कि रिश्तों में नई जान फूँक देता है, विशेषकर यदि आप एडल्ट सेक्स टॉय की मदद से अपने यौन जीवन में एक नया छौंका लगायें. आधुनिक सेक्स टॉय की दुकानें हर तरह के उत्पादों को रखती हैं, जिससे आपके जीवन में एक नया ही रोमांच आ जाता है. इस लेख में हम एक ऐसी डिवाइस के बारे में बात करेंगे, जो न केवल आपके यौन संबंधों में नयी जान ला सकता है, बल्कि लंड की लंबाई और मोटाई को भी बढ़ा सकता है – दि पेनिस स्लीव.

यह डिवाइस एडल्ट स्टोरों में व्यापक रूप से उपलब्ध है. हालांकि, लंड के लिए पेनिस स्लीव का उपयोग किसी नौसिखिए को भ्रमित कर सकता है. कैसे एक सही खिलौने का चुनाव किया जाए और उससे अत्यधिक आनंद की प्राप्ति की जाए? यह टॉय क्या कर सकता है?

ऐसे संवेदनशील मुद्दों में आप आँख बंद करके निर्णय नहीं ले सकते हैं, इसलिए इसको खरीदने से पहले यह समझना आवश्यक है कि आख़िरकार पेनिस स्लीव क्या है और उनमें से हर एक का अपना – अपना क्या फायदा है.

पेनिस स्लीव के मुख्य कार्य

यदि आप अपने लंड को एक नया साथी उपकरण प्रदान करें तो आपका सेक्स जीवन कैसे बदल सकता है? नयेपन और अलग उत्तेजनाओं के अलावा, ऐसा टॉय बहुत महत्वपूर्ण कार्य करता है – यह लंड के आकार को बढ़ाता है.

स्लीव के बुनियादी कार्यों की सूची इसकी आकृति, सामग्री, अतिरिक्त उपकरणों आदि पर निर्भर करती है. ऐसी स्लीव की सामग्री का सबसे बड़ा लक्ष्य तो यह है कि मानव शरीर की सुरक्षा बनी रहे. इसलिए, आम तौर पर स्लीव चिकित्सकीय लेटेक्स या सिलिकॉन से बने होते हैं  ये एक नरम सामग्री होती है, आमतौर पर इनसे एलर्जी नहीं होती है.

डिवाइस के आकार के आधार पर, इसके कार्य भी भिन्न होते हैं. स्लीव लंड की लंबाई, मोटाई को बढ़ा सकता है, यह जी पॉइंट या क्लिट को उत्तेजित कर सकता है, या फिर आपके दूसरे साथी को अलग ही आनंद प्रदान कर सकता है जो उसने इससे पहले कभी भी महसूस नहीं किया हो. कई कार्यों को एक साथ संयोजित करना भी संभव है. सेक्सुअल अडॉप्टेशन की बनावट में सतही स्तर पर भिन्नता होती है: वे पूरी तरह से चिकने, कठोर, मोटे, लम्बे आदि भी हो सकते हैं. पेनिस स्लीव विभिन्न लंड के आकार में बने होते हैं, हालांकि ऐसे कई उदाहरण मौज़ूद हैं जिसमें आप लंड के आकार में काफी बदलाव कर सकते हैं और कई बार इसका आकार भी बढ़ा सकते हैं. एक अजगर की बनाबट में ल्यूमिनस स्लीव? मेरा विश्वास करें, यह सच में मौजूद है.

पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

किसी भी आकार और बनावट के बावजूद, प्रत्येक सेक्स टॉय निम्न फ़ंक्शंस के लिए बना होता है:

  • क्लिट और योनि को अतिरिक्त उत्तेजना प्रदान करता है;
  • तेजी से ओर्गाज्म दिलवाता है;
  • ओर्गाज्म की उत्तेजना को बढ़ाता है;
  • चुदाई का समय बढ़ जाता है;

पेनिस स्लीव आप किस उद्देश्य के लिए खरीद रहे हैं वह उतना महत्वपूर्ण नहीं है. इस खिलौने से आपकी चुदाई में ख़ास उत्तेजना और नएपन की सुखद भावना आपको अवश्य प्राप्त होगी.

FREE Fast Shipping offer for our readers:
पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चलते हैं!

पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

पेनिस स्लीव के प्रकार

एक अच्छी सेक्स खिलौने की दुकान में ग्राहक को लंड पर पहने जाने वाले अंतरंग खिलौनों के बारे में विस्तृत जानकारी मिल सकती है जिससे आप आसानी से चुनाव कर सकते हैं. खिलौनों को निम्न भागों में विभाजित किया जा सकता है:

१. लंड की लम्बाई बढ़ाने वाले खिलौने;

२. मोटाई बढ़ाने वाले खिलौने;

३. रेस्ट्रिक्टिंग खिलौने;

४. उत्तेजक खिलौने;

• स्लीव की पहली किस्म सबसे लोकप्रिय है. इसका मुख्य उद्देश्य लिंग की लंबाई में कई सेंटीमीटर का इज़ाफा करना है. यह उन पुरुषों के लिए उपयुक्त है जो अपने लंड के आकार को बढ़ाना चाहते हैं. वास्तव में यह उन पुरुषों के लिए एक शानदार खोज़ है जिनके साथी की योनि बडी होती है और योनि में गहराई में जाने वाले लंड का असीम आनंद लेती हैं.

कृपया ध्यान दें इस तरह की स्लीव लंड की लंबाई में काफी हद तक वृद्धि करती हैं, इसलिए, उन लोगों को इसका उपयोग नहीं करना चाहिए जिनके लंड की लम्बाई १८ सेमी. से अधिक है. अन्यथा, आप अपने साथी को घायल कर सकते हैं.

स्लीव्स लंड को अधिक मोटा बना सकते हैं, जिससे कि औरत उसकी चूत के हर कोने से मज़ा ले सकती है. इस तरह की एक स्लीव से, महिला की योनि में लंड स्थित हो जाता है, जिससे चुदाई में उत्तेजना बढ़ जाती है.

• एक और प्रकार है जिसे कहते हैं रेस्ट्रिक्टिंग खिलौने. यदि पिछले प्रकार की स्लीव से आपका लंड गहराई तक चला जाता है, तो यह खिलौना एकदम विपरीत तरीके से काम करता है: यह पुरुष के लंड को बहुत गहराई तक नहीं जाने देता है. यह उन पुरुषों के लिए प्रभावशाली है जिनका लंड बहुत ही बड़ा होता है, ऐसे में यह उनके साथी के लिए बहुत ही मददगार होता है, क्योंकि बहुत बड़ा लंड भी एक समस्या बन सकता है, अक्सर सेक्स के दौरान बड़े लंड से कोई महिला असुविधा और दर्द महसूस कर सकती है. रेस्ट्रिक्टर की मदद से, एक मर्द को इस बात की चिंता नहीं रहती है कि चुदाई के दौरान वह महिला साथी की चूत को घायल न कर दे. स्लीव को लंड की शुरुआत में जोड़ा जाता है, जिससे आपका लंड, चूत में आवश्यकता से अधिक अन्दर नहीं जाता है.

• उत्तेजक स्लीव्स जी स्पॉट पर मज़ा लेने की भी छूट देता है. इस तरह के टॉय में एक विशेष स्प्रिंग वाली अंगूठी लगी होती है, जो चुदाई के दौरान महिला के शरीर के संवेदनशील हिस्से को रगड़ती है. रगड़ के दौरान, रिंग शरीर के संवेदनशील हिस्से को उत्तेजित करना शुरू कर देती है, जिससे महिला का आनंद बढ़ जाता है.

• सेक्स टॉय का दूसरा प्रकार – डबल पेनट्रेशन के लिए ख़ास स्लीव. अपने चुदाई के खिलौनों में इस तरह के स्लीव को जोड़ने से पहले साथी के साथ बात कर लेना चाहिए ताकि आप यह जान सकें कि क्या उसे गांड में घुसवाना पसंद है या नहीं. या फिर आप दोनों को इसे आज़माने का मन है.

पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

कृपया ध्यान दें एक अन्य सुविधा जो कि पेनिस स्लीव में उपलब्ध है, वो है एक कॉम्पैक्ट वाइब्रेटर. हर मॉडल इस डिवाइस से युक्त नहीं होता है, इसलिए खरीदने से पहले इसकी उपलब्धता की जांच कर लेनी चाहिए. इस डिवाइस के लाभ बहुत ही शानदार हैं – चुदाई के दौरान संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त उत्तेजना.

एक टॉय की लागत इसके कार्यों की विविधता पर निर्भर करती है. अधिकांश मॉडलों में एक ही समय में कई सुविधाओं की संभावनाएं होती हैं: लंड के आकार को बढ़ाते हैं, लंड को मोटा करते हैं, इसके आकार में बदलाव लाते हैं, संवेदनशील इलाके में अतिरिक्त उत्तेजना प्रदान करते हैं. शुरूवात में आप एक फंक्शन वाले टॉय को आज़मा सकते हैं, और फिर कई फंक्शन वाले मॉडल को आजमायें. अपनी चुदाई में विविधता लाने के लिए अलग-अलग तरह की स्लीव्स को आज़माना आवश्यक है.

पेनिस स्लीव को दो प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है: लंड के टोपे को पूरी तरह से कवर करने वाली स्लीव या अतिरिक्त उत्तेजना के लिए इसे खुला छोड़ने वाली स्लीव. बंद स्लीव एक कंडोम का काम भी कर सकता है, वास्तव में यह एक गर्भनिरोधक का काम करता है. ऐसे खिलौनों का एक अन्य कार्य लंड की संवेदनशीलता में कमी लाना भी है, जो चुदाई के समय को बढ़ा देता है. यह जल्दी पानी झड़ने की स्थिति में उपयोगी हो सकता है.

खुले सिर वाली स्लीव से आपकी अंतरंगता की आजादी बरक़रार रहती है, और लंड के टोपे को दबा कर चुदाई की अवधि भी बढ़ सकती है.

पेनिस स्लीव को उपयोग करने का नियम

तो अब आपने अपने खिलौने का चुनाव कर लिया है, और नए खिलौने को आज़माने के लिए तैयार हैं. सब कुछ सही से करना बहुत महत्वपूर्ण है, पर कैसे? आगे पढ़िए

• शुरू करने के लिए, अपने शरीर को गर्म पानी से अच्छी तरह से धुलें, और फिर एंटीसेप्टिक सोल्यूशन का प्रयोग करें;

• स्लीव को न उबालें या इसे उच्च तापमान पर न ले जाएँ जिससे डिवाइस को कोई नुकसान पहुंचे. शुद्ध पानी और एंटीसेप्टिक्स इसके लिए पर्याप्त हैं;

• टॉय को खड़े सूखे लंड पर पहना जाता है. किसी भी लुब्रिकेंट का उपयोग वर्जित है, क्योंकि इससे स्लीव सेक्स के दौरान सरक सकती है और चूत के अंदर ही छूट सकती है. डिवाइस को लगाना काफी आसान है: इसे किसी कंडोम की तरह रोल कर के नीचे लाया जाता है, फिर इसका अंत लंड के टोपे पर होता है, जब टॉय लंड में सही से लग जाए उसके बाद आप स्लीव की बाहरी सतह पर किस तैलीय पदार्थ को लगा सकते हैं.

कृपया ध्यान दें कि यदि आपको स्लीव लगाने में दिक्कत हो रही है, तो आप लंड पर हल्का टैलकम पाउडर लगा सकते हैं. इस प्रकार से डिवाइस को लंड पर लगाना आसान हो जाएगा, और आपको यह डर भी नहीं रहेगा कि चुदाई के दौरान स्लीव सरक सकती है.

यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि स्लीव्स (डबल पेनेट्रेशन वाले खिलौने को छोड़कर) गांड मारने के लिए नहीं हैं. गांड, चूत की तरह लोचदार नहीं होती है. नतीजतन, एक मोटे और बड़े ऑब्जेक्ट से गांड आसानी से चोटिल हो सकती है, जिससे गांड में दरार, रक्तस्राव, चोट आदि आ सकती हैं.

एक और अप्रिय पल तब हो सकता है जब स्लीव सरक जाए. मलाशय स्लीव बहुत गहराई तक जा सकती है, और इसे निकालना बहुत मुश्किल हो सकता है.

पहली बार उपयोग करने से पहले स्लीव को उपयोग करने के लिए दिए गए निर्देशों को सावधानीपूर्वक पढ़ना बेहद महत्वपूर्ण है. दुकान में उपस्थित सलाहकार से किसी भी जानकारी को पूछने में संकोच न करें.

ख़ास विशेषताएं

सबसे पहले तो यह जाना लेना ज़रूरी है कि लंड पर लगायी जाने वाली यह स्लीव आपके यौन जीवन में विविधता लाने वाला एक खिलौना है. स्थिर और भरोसेमंद संबंधों वाले जोड़े जो कि चुदाई में विविधता लाना चाहते हैं, वे इस ख़ास आविष्कार का आनंद अच्छे से ले सकते हैं.

पेनिस स्लीव छोटे लंड के चलते मनोवैज्ञानिक समस्याओं से जूझ रहे एक मर्द के लिए मददगार साबित हो सकता है. एक एन्लार्जिंग स्लीव की मदद से, आप अपनी महिला साथी को ख़ास, उत्तेजक और प्रबल ओर्गाज्म का मज़ा दे सकते हैं.

इस तरह के खिलौने को सर्प्राइज की तरह से भी प्रस्तुत किया जा सकता है, बिना इसकी अग्रिम खरीद के. कई स्लीव मॉडल पूरी तरह से प्राकृतिक दिखते हैं, और इसे किसी भी अप्राकृतिक चीज़ के साथ नहीं जोड़ा जा सकता है. आपको अपने साथी की स्थिति को देखकर यह निर्णय लेना चाहिए कि स्लीव का इस्तेमाल करना है या नहीं. यदि वह इसको आज़माना चाहती है तो इसे अवश्य आजमायें और यदि वह इसके खिलाफ है, तो अपने यौन जीवन को बदलने के लिए अपने साथी के साथ जोर ज़बरदस्ती न करें. बाद में फिर से इस बात पर खुलकर चर्चा करें या फिर किसी अन्य डिवाइस को ढूंढें.

पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें
पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

पेनिस स्लीव के प्रकार. सेक्स टॉय का उपयोग कैसे करें

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।