किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

Rate this post

दुनिया भर के न जाने कितने पुरुष अपने लिंग के आकार की वजह से चुदाई का पूरा मज़ा नहीं ले पाते हैं. जनमानस की यही राय है कि शरीर की यह एक ऐसी गंभीर समस्या है जो कि आपके जीवन को बर्बाद करने में सक्षम है. बस इस बात का ज़रा सा ख्याल कि लंड का आकार अपेक्षित आकार से कम है, किसी पुरुष के आत्मसम्मान में एक गंभीर रुकावट बन जाता है, जो कि उसके जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में दिखाई पड़ता है: रिश्ते, व्यावसायिक गतिविधियां, और विशेष रूप से उसके यौन जीवन में. अपनी क्षमताओं पर आत्मविश्वास प्राप्त करने के लिए लोग आज तक खोज़ी गयीं विभिन्न लिंग आकार वर्धक पद्धतियों को अपनाते हैं. लेकिन क्या गैर-सर्जरी वाले तरीके प्रभावी होते हैं? अब समय आ गया है कि हम इस मुद्दे की सच्चाई को उजागर करें!

सामान्य लिंग का आकार क्या है?

लिंग के आकार में कोई स्थापित मानक नहीं हैं हालांकि, किसी पुरुष का यौन अंग, यदि खड़े होने की स्थिति में ८ सेमी. से कम होता है, तो इसे एक विसंगति के रूप में देखा जाता है – ऐसी स्थिति को माइक्रोपीनिस कहा जाता है. अन्य स्थितियों में, एक आदमी स्वयं यह फैसला कर सकता है कि उसके लिंग का आकार अच्छा है या नहीं है. इस निर्णय को मुख्य रूप से उसके चुदाई की गुणवत्ता प्रभावित करती है. अगर आपकी साथी चुदाई से संतुष्ट हो जाती है तो आपको अपने लिंग के आकार को लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए. सेक्स में सफलता केवल लिंग के आकार पर निर्भर करती है यह राय बिल्कुल गलत है. लेकिन अगर समस्या वास्तव में असली है, तो इसे सही किया जा सकता है.

क्या लिंग के आकार में वृद्धि संभव है?

लिंग बाह्य प्रभावों से प्रभावित होने वाला एक अत्यंत संवेदनशील अंग है. उदाहरण के लिए, इसके व्यास को कम किया जा सकता है यदि सम्भोग में संतुष्टि प्रदान करने वाली औषधियों का प्रयोग अत्यधिक संकीर्ण व्यास वाले आकार के साथ किया जाए. परिवर्तन दो महीने में दिखाई पड़ने लगता है.

क्या लिंग के आकार में इजाफ़ा संभव है? इस सवाल का आपको सीधे उत्तर देने से पहले, यह समझना आवश्यक है कि आपके केस में लिंग के आकार में वृद्धि आवश्यक भी है या नहीं.

FREE Fast Shipping offer for our readers:
किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चलते हैं!

किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

एक खड़े हुए लंड की औसत लंबाई १२-१४ सेमी. होती है औसत व्यास ३-४ सेमी. होता है. यदि आपका लिंग इन आंकड़ों में फिट बैठता है, तो आपको सर्जरी कराने की कोई भी ज़रुरत नहीं है, ऐसी स्थिति में समस्या शारीरिक नहीं बल्कि मनोवैज्ञानिक होती है. वहीं हर व्यक्ति के पास अपनी इच्छा के अनुसार अपने शरीर को परिवर्तित करने का अधिकार होता है.

किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

यदि आपने अपना जीवन बदलने का दृढ़तापूर्वक निर्णय लिया है, तो आपको यह जानकारी होनी चाहिए कि घर बैठे लिंग के आकार को कैसे बढ़ाएं. लोकप्रिय ऑपरेशन (लिगमेनटॉटमी) के अलावा, निम्नलिखित विधियां मौजूद हैं:

  • जेलकिंग;
  • एक विशेष मालिश;
  • सस्पेंशन वेट से खींचना;
  • मेडिकल प्रीपरेशन का उपयोग;
  • एक एक्सटेंडर;
  • एक वैक्यूम पंप;
  • लिंग इज़ाफ़ा के लिए जैल, स्प्रे, मलहम और क्रीम;पीनिस अटैचमेंट्स

सबसे अच्छे परिणाम एक जटिल प्रयोग के माध्यम से प्राप्त होते हैं जब कई विधियों का संयोजन होता है. तत्काल परिणाम की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए: उस मामले में आपको नियमितता और दृढ़ संकल्प पर टिके रहना होगा, आपको अपनी मेहनत का फल अवश्य मिलेगा.

घर बैठे लिंग का आकार कैसे बढ़ाएं

घर बैठे लिंग के आकार को बढ़ाने की क्षमता पर कई पुरुषों संदेह करते हैं. लेकिन वास्तविकता में, अधिकांश तरीके काम करते हैं, लेकिन विज्ञापनों के जैसे नहीं. हालांकि, परिणाम प्राप्त होते हैं. लिंग के आकार को बढ़ाने के लिए, आपको विभिन्न व्यायाम की तकनीकों का अनुसरण करने की आवश्यकता है.

जेलकिंग;

सबसे प्राचीन तकनीक जो मध्य पूर्व भारत और अफ्रीका से आती है, जहां इसको कई शताब्दियों से इस्तेमाल में लाया जा रहा है. इसकी दूध दुहने से सम्बंधित विभिन्न समरूपताओं के कारण, इसे “मिल्किंग” भी कहते है. जेलकिंग से लिंग पर पड़ने वाले विभिन्न प्रभावों का कई बार परीक्षण किया गया है और वास्तव में इससे प्रभावशाली परिणाम प्राप्त होते हैं.

इसमें एक अच्छे मलहम का किरदार प्रमुख होता है और नीचे दिए गए संकेतों को ध्यान से देखें. इस तकनीक को करने की मुख्य स्थिति यह है कि लिंग पूरी तरह से खड़ा नहीं होना चाहिए, आपका लिंग ६०-७५% तक खड़ा हो और उसमे हल्की नरमी बरक़रार हो.

रक्त प्रवाह बढ़ने के कारण लिंग बड़ा हो जाता है. जेलकिंग सहित सभी मालिश तकनीके, रंध्रमय शरीर की मात्रा बढ़ाने पर आधारित हैं. दो महीने के नियमित व्यायाम से, रंध्रमय शरीर के छेद बढ़ जाते हैं, जिससे लिंग के कड़े होने पर अधिक रक्त लिंग में समा जाता है. जिससे आपके लिंग के आकार में भी इजाफ़ा होता है.

आइए दो सबसे लोकप्रिय जेलकिंग विधियों पर नज़र डालें.

लिंग आकार वर्धक व्यायाम

• व्यायाम १

व्यायाम से पहले, अपने लिंग के ऊतकों को अधिक लोचदार बनाने के लिए गरम करें. सबसे आसान तरीका होता है कि आप गर्म पानी में एक तौलिया गीला कर लें और इस तौलिया से लंड को लपेट दें, इस तौलिया से लिंग को सभी तरफ़ से अच्छे से गर्मी दें.

फिर, हल्के कड़ेपन की स्थिति लानी होगी उसके बाद एक विशेष मरहम को लिंग पर लगायें. अपनी उंगलियों से लिंग को नीचे से पकड़ें, अपनी इंडेक्स फिंगर और अंगूठे से छोटा छेद तैयार करें. फिर, धीरे-धीरे लिंग के टोपे की तरफ से बढ़ना शुरू कर दें, और लिंग को खींचते रहें. टोपे के एकदम ऊपरी हिस्से को न छुएं. इस प्रक्रिया को ४० बार दोहरायें, धीरे-धीरे इस संख्या को २०० तक लेकर जाएँ.

व्यायाम २

इस अभ्यास में, लिंग पर दबाव केवल उंगलियों से न डालकर पूरी हथेली से डाला जाता है. आपको लिंग को पकड़ कर कम से कम १० सेकंड के लिए निचोड़ना होगा (शुरुआत में यह पर्याप्त होगा). यदि आपका लिंग एक हथेली में फिट नहीं है, तो इस प्रक्रिया में दूसरे हाथ का भी उपयोग करें. जब आप इसे निचोड़ रहे हों तो इसे पहले बायीं ओर खींचें, फिर दाएं, फिर ऊपर, फिर नीचे. निचोड़ने की प्रक्रिया को बहुत कठोरता के साथ करना होगा लेकिन ध्यान रहे कि इतना भी तेज़ न करें जिससे आपको दर्द होने लगे. समीक्षाओं से पता चलता है कि एक महीने में २ सेमी. तक का इजाफ़ा होता है.

किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

मालिश

लिंग के आकार को बढ़ाने में, कई पुरुषों को मालिश से ही सफलता मिली है. इस विधि को आसानी से घर पर किया जा सकता है और इसमें सामग्री का भी कोई ख़ास खर्चा नहीं होता है. लंबाई और मोटाई वृद्धि के अलावा, इससे एक और भी फायदा होता है – यह मर्दानगी की शक्ति पर सकारात्मक प्रभाव डालती है.

मालिश के लिए मुख्य आवश्यकता यही है कि तकनीक का कड़ाई से पालन करना चाहिए. नियमों का सही से पालन करेंगे तो आप चोटों से बचे रहेंगे और आपको आपकी इच्छा के अनुसार परिणाम भी प्राप्त होंगे.

मालिश से पहले, अपने लिंग को ज़रूर गर्म कर लें. एक छोटा तौलिया लें, इसे गर्म पानी से गीला कर लें, और अपने लिंग के चारों ओर लपेटें. कुछ मिनट इन्तजार करें और फिर प्रक्रिया को दो बार दोहराएं. इस तरह की प्रक्रिया के बाद, मालिश से आपको बेहतर परिणाम मिलेंगे, क्योंकि इससे ऊतक अधिक लोचदार बन जाते हैं, और त्वचा भी बेहतर हो जाती है. मालिश के कई तरीके मौजूद हैं, लेकिन ज्यादातर सभी में एक ही सिद्धांत का अनुसरण किया जाता है: मालिश की गति के साथ लिंग को धीरे-धीरे खीचें और निचोड़ें. लिंग की मालिश दिन में १ से २ बार की जानी चाहिए.

वजन लटकाना

लिंग का आकार बढ़ाने की यह तकनीक आपको चोट दे सकती है. नाजुक लिंग का रंध्रमय आकार वाला हिस्सा वजन से लगातार प्रभावित होगा. इससे लिंग की लम्बाई में तो इज़ाफा होता है लेकिन लिंग की मोटाई में कोई फ़र्क नहीं पड़ता है.

इस प्रक्रिया से पहले, मालिश से लिंग को गरम किया जाता है. फिर, लिंग के ऊपरी भाग पर एक पट्टी को लगाया जाता है, जिसमें फीता भी लगा होता है. फीता पर, थोडा वजन लगा होता है. पहले कुछ सत्र निरंतरता के साथ कम से कम १५ मिनट तक चलने चाहिए और फिर वजन और समय को अपनी सुविधानुसार धीरे-धीरे बढ़ाना चाहिए. सिर की सुन्नता से बचना चाहिए. यदि आपके लिंग का टोपा सुन्न पड़ जाता है, तो आपको लटकने वाले वजन को कम करना चाहिए.

एक्सटेंडर

इस उपकरण का उपयोग न केवल लिंग की लंबाई बढ़ाने के लिए किया जाता है बल्कि इससे मोटाई भी बढती है, और साथ ही इससे लिंग की वक्रता भी दूर होती है. एक्सटेंडर लिंग को खीच देता है, जिसके कारण असुविधाजनक तनाव से छुटकारा पाने के लिए लिंग के ऊतक बढ़ना शुरू कर देते हैं. इस डिवाइस को लगाने से जो नतीजे प्राप्त होते हैं वे लंबे समय तक टिके रहते है. इसका मतलब यह है कि लिंग की बढ़ी हुई लम्बाई और मोटाई बनी रहती है. एक्सटेंडर को दिन में कुछ घंटे के लिए लगाने की आवश्यकता होती है, इसमें भी धीरे-धीरे समय को बढ़ाना चाहिए.

एक एक्सटेंडर वैक्यूम, लूप या बेल्ट भी हो सकता है. किसी अन्य प्रकार के मुकाबले में लूप फिक्सचर सस्ता होता है, लेकिन इसका उपयोग उतना सहज नहीं होता है.

एक्सटेंडर को चुनने के लिए कोई सार्वभौमिक सिफारिशें मौजूद नहीं हैं. प्रत्येक व्यक्ति को अपने शरीर की बनाबट और जीवन शैली जैसी व्यक्तिगत विशेषताओं को ध्यान में रखते हुए स्वयं ही डिवाइस का चयन करना चाहिए.

वैक्यूम पंप

एक वैक्यूम पंप एक उपकरण है जिसका कार्य करने का सिद्धांत चूसने के समान है. इसका प्रयोग केवल लिंग के आकार को बढ़ाने के लिए किया जाता है, साथ ही इससे कड़ेपन में भी सुधार आता है. यह उपकरण उस समस्या को हल करने में भी मदद करता है जिसमे खड़ा लिंग बहुत कड़ा नहीं होता है या पर्याप्त रूप से बड़ा नहीं होता है. यह पंप लिंग के आसपास एक वैक्यूम बनाता है, जिससे रक्त का प्रवाह तेज़ होता है और कड़ेपन में भी सुधार आता है.

किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

वैक्यूम पंप कैसे लगाया जाता है? डिवाइस के उपयोग से पहले, लिंग पर एक विशेष क्रीम को लगाया जाता है, जिसके बाद इसे वैक्यूम पंप वाले उपकरण में रखा जाता है. वैक्यूम बनाने के लिए, हवा को पंप में भरा जाता है, जिससे लिंग पर दबाव पड़ता है. रक्त के प्रवाह के बढ़ने के कारण, लिंग की लम्बाई और मोटाई दोनों में इजाफ़ा होता है, और लिंग के कड़ेपन में भी सुधार आता है. उपकरण के अन्दर के दबाव को डिवाइस में लगे हुए मैनोमीटर के माध्यम से नियंत्रित किया जा सकता है.

वैक्यूम पंप से लिंग के आकार में इजाफ़ा समय से बाध्य होता है. इसलिए इस डिवाइस के उपयोग करने की सिफारिश चुदाई से पहले की जाती है. प्रभाव को लम्बे समय तक बरक़रार रखने के लिए, इसमें लगे हुए इरेक्शन रिंग का भी उपयोग कर सकते हैं. लिंग के आकार की थोड़ी देर के लिए होने वाली वृद्धि के बावजूद, बहुत से लोग इस उपकरण को विशेष रूप से वरीयता देते हैं, क्योंकि लिंग की शीघ्र वृद्धि के साथ इससे कठोर कड़ापन भी मिल जाता है.

कुछ फार्मेसियां वैक्यूम पंपों को बेचती हैं, साथ ही साथ इसे सेक्स उपकरणों से सम्बंधित दुकानों पर भी पाया जा सकता है.

जैल, स्प्रे, मलहम, और क्रीम

विभिन्न ऐसे विज्ञापनों के बावजूद, जिनमे लोग अद्भुत प्रभावों के बारे में बात करते हैं, ऐसे उत्पादों के विषय में विशेषज्ञों की राय अलग होती है. बेशक, इनके उपयोग के बाद परिवर्तन ज़रूर आता है, लेकिन मुद्दे की बात यह है कि परिणाम अक्सर कई बार अपेक्षाओं तक नहीं पहुंचते हैं

फिर चाहे बात कीस भी फार्म (क्रीम्स, स्प्रेज, आदि) की क्यों न हो. इनका प्रभाव तीन रूप ले सकता है:

  1. अल्पकालिक
  2. दीर्घकालिक
  3. सहायक

आम तौर पर, इन उपायों से कुछ प्रभाव प्राप्त होता है, अगर इनके साथ ही में कुछ अन्य विधियों (मालिश, जेलकिंग, एक्सटेंडर) का उपयोग किया जाये.

अल्पावधि प्रभाव वाले मलहम पूरी तरह से कार्य करते हैं. मुख्य बात यह है कि इनके घटकों में गर्मी करने वाले गुण होते हैं जिससे लिंग में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है. जिससे लिंग के सिर और लिंग में अस्थायी विस्तार होता है.

अगर कोई दीर्घकालिक परिणामों की तैयारी का चयन करता है, तो उत्पाद के बारे में मौज़ूद सकारात्मक समीक्षाओं पर नहीं जाना चाहिए. तस्वीरों और वीडियो जिसमे “पहले और बाद के” अंतर को दिखाया जाता है उसे भी गंभीरता से नहीं लेना चाहिए. दुर्भाग्य से, कोई भी मरहम या जेल बिना किसी एक्सटेंडर या मसाज़ के अच्छा परिणाम नहीं प्रदान कर सकता है.

जब एक सहायक प्रभाव की बात आती है, तो उनकी प्रभावशीलता को भी पूरी तरह समझाया जा सकता है. इनकी कार्य करने की विधि रंध्रमय शरीर के छिद्रों के आकार को बढ़ाना और ऊतकों की लोच में सुधार लाना होता है.

आकार बढ़ाने के लिए ऑपरेशन

हर आदमी से यह निर्णय ले सकता है और लिंग को सर्जरी के माध्यम से बढ़ा सकता है. बेशक, ऊपर बताये गए सभी तरीके लिगमेंटॉटमी (लिंग के आकार को बढ़ाने की प्रक्रिया) से कम प्रभावी होते हैं, लेकिन वे उपाय ज्यादातर लोगों के लिए सुलभ हैं, जबकि एक बहुत अच्छे सर्जन से सर्जरी करवा पाना हर व्यक्ति की पहुँच से बाहर होता है. एक ऑपरेशन दो रूप ले सकता है: लिंग की लंबाई बढ़ाना या इसकी मोटाई बढ़ाना. सर्जरी से लिंग को ४ सेमी. मोटा किया जा सकता है. विशेष क्लीनिकों में स्थानीय नारकोसिस की मदद से इसका संचालन किया जाता है. किसी भी ऑपरेशन से पहले एक अच्छे विशेषज्ञ से परामर्श लेना परमआवश्यक है.

यदि ऑपरेशन को किसी पेशेवर द्वारा किया जाता है, तो उसके बाद होने वाली जटिलताओं का जोखिम लगभग खत्म ही हो जाता है.

किसी भी मामले में, ऐसे चरम उपायों का फैसला करने से पहले घर बैठे लिंग के आकार को बढ़ाने वाले तरीकों को आज़मा लेने में कोई भी हर्ज़ नहीं है.

लिंग अटैचमेंट्स

अटैचमेंट उन सभी लोगों के लिए एक ऐसा प्रचलित विकल्प है, जो बिना किसी भौतिक या अस्थायी व्ययों के लिंग के आकार को बढ़ाना चाहते हैं. लंबाई के विस्तार के अलावा, अटैचमेंट से लिंग की मोटाई में भी वृद्धि होती है, साथ ही उत्तेजना में भी वृद्धि होती है. एडल्ट स्टोर्स में इसके खुले और बंद संस्करण मौज़ूद हैं. लिंग की लम्बाई को बढ़ाने के लिए बंद अटैचमेंट ज्यादा प्रभावी होता है. ऐसे खिलौनों में प्रयोग की गयी सामग्री में मेडिकल सिलिकॉन या लेटेक्स होता है, जो नरम, मज़बूत और पर्याप्त लचीला होता है. इसके अलावा यह मनुष्य की त्वचा से भी मिलता है.

ऐसा अटैचमेंट किसी भी रूप या आकार का हो सकता है, जिनसे लिंग का आकार १० सेमी. तक बढ़ सकता है. हालांकि बहुत कम लोगों के लिए ही इतने ज्यादा विकास की ज़रुरत होती है. आम तौर पर ज्यादातर लोग आनंद लेने के साथ ही इससे लिंग के आकार को ३ से ६ सेमी. तक लंबा कर लेते हैं. साथ ही इसमें महिलाओं के लिए एक और बोनस है कि इससे चुदाई के समय में भी वृद्धि होती है, जो कि लिंग की संवेदनशीलता में कमी आने के कारण होती है.

इस प्रकार से, यह निष्कर्ष दिया जा सकता है कि अटैचमेंट उन लोगों के लिए सबसे अच्छा विकल्प है जो कभी-कभी बिस्तर में अपने साथी को आश्चर्यचकित करना पसंद करते हैं.

लिंग वृद्धि के तरीकों में बहुत भिन्नता होती है, इसलिए यदि कोई इच्छा रखता है कि वह बिना कुछ खास खर्च किए हुए अच्छे परिणाम प्राप्त करे तो यह संभव है. हालांकि, इन सभी का उपयोग तभी करना चाहिए जब लिंग के आकार की समस्या असली हो, और यह वास्तव में किसी का जीवन बर्बाद कर रही हो. किसी प्रयोग के लिए, ऐसे परीक्षणों में अपने आप को डालना गलत होगा, क्योंकि यह खतरनाक हो सकता है और इससे बेहद अप्रिय परिणाम पैदा हो सकते हैं. अपने शरीर को प्यार करें और यह आपको आपके साथी के मिलकर वापस प्यार करेगा, फिर चाहे आपका लिंग का कैसा भी क्यों न हो .
किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें
किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

किसी ऑपरेशन के बिना लिंग के आकार में सुधार कैसे लायें

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।