Green coffee. एक छोटी से गोली से बदल जाएगी आपकी ज़िंदगी।

वजन कम करने के लिए Green coffee का इस्तेमाल ज़्यादा पुराना नहीं है लेकिन इतने कम समय में ही कॉफी ने अधिक वजन की समस्या से निबटने के उपायों में शीर्ष स्थान प्राप्त कर लिया है।
दुबला शरीर न सिर्फ सुंदरता की निशानी होता है बल्कि इस पर तो गर्व होना चाहिए। दुबले होने से यह नज़र आटा है कि इंसान अपने शरीर और अपनी सेहत की इज्जत करता है। यह जरूर है कि कई बार लोग अच्छे शेप में आने के लिए सावधानी छोड़ देते हैं और अपनी सेहत को नुकसान पहुंचा बैठते हैं। Green coffee एक ऐसा पदार्थ है जो आपके शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाता।
जैसा इसके नाम से जाहिर होता है, यह प्रोडक्ट उसी कॉफी पौधे की फल्लियाँ है जो हर घर में होती है। बस फर्क इतना होता है कि Green coffee में फल्लियों को भूना नहीं गया होता। कॉफी में पाया जाने वाला क्लोरोजेनिक एसिड (एक शक्तिशाली प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट) अधिक गर्मी से नष्ट हो जाता है। हल्की भुनाई करने से भी कॉफी में इस एसिड की मात्रा काफी कम हो जाती है जिससे कॉफी के कई फायदेमंद गुण नष्ट हो जाते हैं।

वजन घटाने के लिए Green coffee कैप्सूल्स स्वास्थ्य के लिए अच्छे क्यों हैं?

वैसे इस प्रोडक्ट के ग्राहकों के फीडबैक मुख्यतः वजन घटाने में सफलता दर्शाते हैं लेकिन Green coffee में कई और भी गुण हैं जो मानव शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं:

  • यह एक जनरल टॉनिक की तरह काम करती है;
  • इससे स्किन टाइट होती है;
  • इससे उम्र संबंधी बदलाव धीमे हो जाते हैं;
  • शरीर का जरूरत से ज़्यादा पानी बाहर निकल जाता है।

Green coffee स्वास्थ्यवर्धक पदार्थों का एक ऐसा बेजोड़ प्राकृतिक स्त्रोत है जो आपके शरीर को बहुआयामी प्रभाव देता है।

Green coffee

Green coffee किसे नहीं लेनी चाहिए।

दुर्भाग्य से वजन कम करने का ऐसा कोई तरीका नहीं है जो हर किसी को एक जैसा सूट करे और एक जैसा असर करे। सबसे प्राकृतिक और प्रभावशाली नुस्खों में भी सावधानी रखनी होती है। Green coffee काफी उपयोगी है लेकिन इसे हर कोई नहीं ले सकता। आपको इसे लेने के पहले ध्यान रखना जरूरी है कि आपको निम्नलिखित में से कोई समस्याएँ/परिस्थितियाँ नहीं हों।

  • गर्भावस्था और स्तनपान करा रही माएँ;
  • उच्च रक्तचाप;
  • हृदय संबंधी परेशानियाँ;
  • मधुमेह;
  • माइग्रेन और विभिन्न कारणों से होने वाले सरदर्द;
  • इस प्रोडक्ट में शामिल घटकों से व्यक्तिगत एलर्जी इत्यादि।

आपको यह याद रखना चाहिए कि अपने बॉडी परफेक्ट करने के लिए आप कहीं अपने स्वास्थ्य को नुकसान न पहुंचा लें।

BUY NOW

वजन घटाने के लिए कॉफी कैप्सूल महत्वपूर्ण क्यों हैं?

Green coffee का स्वाद और खुशबू आम कॉफी की तरह बढ़िया नहीं होती। वजन कम करने की कोशिश कर रहे कई लोगों को तो कच्ची कॉफी का स्वाद काफी कड़वा भी लग सकता है। कॉफी में कभी भी शक्कर या दूध नहीं मिलाने चाहिए क्योंकि इनसे कैलोरी बढ़ जाती हैं और कॉफी का फायदा नहीं होता। जब घर में पी जाने वाली आम कॉफी बनाई जाती है तो अच्छा स्वाद और खुशबू पाने के लिए कॉफी पहले भूनी और फिर उबाली जाती है जिससे इसके कई स्वास्थ्यवर्धक गुण खत्म हो जाते हैं लेकिन जब आप कॉफी वजन कम करने के लिए लेते हैं तो हमारे पास यह विकल्प नहीं होता। इसलिए, कॉफी के साथ और कुछ न मिलाएँ।

कच्ची कॉफी फल्लियों की एक और असुविधाजनक बात होती है इनका कड़ापन। भुनी हुई कॉफी फल्लियों को एक आम आटा-चक्की भी पीस सकती है लेकिन Green coffee की फल्लियों को पीसने के लिए एक शक्तिशाली इलेक्ट्रिक कॉफी-मिल की जरूरत होती है। इस कारण से घर के बाहर होने पर Green coffee लेना थोड़ा असुविधाजनक हो सकता है क्योंकि बाहर आप बार-बार कॉफी नहीं पीस सकते।

Green coffee के टैबलेट (या कैप्सूल) आपकी सुविधा को ध्यान में रखकर बनाए गए हैं। इनके साथ आपको कॉफी बनाने में झंझट नहीं होती और इसके कड़वे स्वाद को भी नहीं झेलना होता। । इसे लेने का तरीका आम दवाइयों की तरह ही होता है, आपको बस दिन में दो बार रोज शुद्ध पानी के साथ Green coffee की एक-एक टैबलेट लेना है।

वजन घटाने के लिए कैप्सूल में Green coffee। ग्राहकों का फीड-बैक

पंखुड़ी, 31

डेलीवरी होने बाद मेरा वजन कुछ ही महीनों में 18 किलो बढ़ गया था। बेटी होने के बाद मैंने 9 किलो तो कम कर लिया लेकिन बाकी वजन मेरी कमर और पेट पर चढ़ गया था जिससे मैं बड़ी भद्दी दिखने लगी थी। मैं मानती थी कि जैसे ही मैं दूध पिलाना बंद करूंगी, डाइटिंग शुरू करके पतली हो जाऊँगी, लेकिन ये संभव नहीं हो पाया। मेरे पास इतना समय नहीं होता था कि अपने लिए अलग से खाना बनाऊँ क्योंकि मुझे अपने परिवार को पूरा समय देना होता था। और जब मैंने फिर से नौकरी जॉइन की तो पाया कि मेरे कपड़े तो फिट ही नहीं आ रहे। मुझे बहुत खराब लगा क्योंकि मुझे अब पूरे कपड़े नए खरीदने पड़ रहे थे लेकिन कोई और चारा भी तो नहीं था। जब मैं ऑनलाइन शॉपिंग पर कपड़े ढूंढ रही तो मुझे अचानक Green coffee कैप्सूल का एक विज्ञापन दिखा। सच कहूँ तो मैंने कैप्सूल ये सोच के खरीदे थे कि “ले कर देखने में क्या जाता है, वैसे भी तो परेशान हूँ”। मैं कितनी गलत साबित हुई! सबसे बड़ी बात यह है कि जब आपको थोड़ा-बहुत भी रिज़ल्ट दिखता है तो काफी प्रेरणा मिल जाती है और हम काफी कुछ और भी कर जाते हैं। मैंने सिर्फ Green coffee ही नहीं ली, मैंने जिम भी जॉइन कर लिया और बचा हुआ सिर्फ 9 नहीं बल्कि पूरा 13 किलो वजन सिर्फ 3 महीने में कम कर लिए।

 

आराधना, 40

मुझे तो किसी भी तरह की दवाइयों से हमेशा डर लगता है। वजन कम करने के लिए Green coffee मेरे लिए एक प्रयोग की तरह है (जो काफी सस्ती भी है वैसे)। मेरे ऑफिस की एक सहेली ने मुझे इसे लेने की सलाह दी थी। हम दोनों से ऑफिस एक साथ ही जॉइन किया था और हमारा फिगर एक जैसा ही था, हम दोनों ही थोड़ी मोटी थीं और मैं तो ज़्यादा सोचती भी नहीं थी इस सब के बारे में। लेकिन एक दिन मैंने देखा कि हमारे बीच में फर्क बढ़ता जा रहा है और मुझे टेंशन होने लगी। फिर उसने बताया कि वो एक महीने से Green coffee कैप्सूल ले रही थी और उसने मुझ से भी इन्हें लेने को कहा। मैं कह सकती हूँ कि कैप्सूल से कोई नुकसान तो मुझे नहीं दिखा, ये आम कॉफी ही है, बस फर्क इतना है कि ये कच्ची कॉफी से बनी होती है। मैंने अभी-अभी Green coffee लेना शुरू किया है लेकिन मेरी सहेली के रिज़ल्ट देखकर तो काफी बढ़िया लगा।

 

Green coffee से आप पलक झपकते ही दुबली तो नहीं हो जाएँगी लेकिन नियमित रूप से लेने पर Green coffee आपको दुबले होने और अपनी ज़िंदगी को बेहतर करने में मदद जरूर करेगी।

BUY NOW

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।