लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन या लीगमेंटोटॉमी के बारे में आपके हर प्रश्न का जबाब।

Rate this post

आज हर पुरुष लिंग की लंबाई कुछ सेंटीमीटर बढ़ाने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार है। यहाँ तक कि लोग ऑपरेशन करवाने से भी नहीं कतराते। लीगमेंटोटॉमी – या लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन – की आज मर्दों में बहुत माँग है।

लिंग का साइज़ कितना महत्वपूर्ण होता है?

आँकड़ों के अनुसार, मर्दों की 1/3 जनसंख्या अपने साइज़ और आकार को लेकर असुरक्षित महसूस करती है। ऐसा नहीं है कि अधितकर पुरुषों के लिंग की लंबाई और मोटाई उम्र के अनुसार आदर्श साइज़ की नहीं होती, लेकिन फिर भी अधितकर लोग बड़ा और मोटा लिंग चाहते हैं। यह बिल्कुल उसी तरह है जैसे महिलाएँ सुंदर दिखते हुए भी पतले होना और स्तन बड़े करना चाहती हैं।

चेतावनी! अधिकतर पुरुष मानते हैं कि बड़ा लिंग होने से आत्म-विश्वास बढ़ने की गारंटी होती है। बड़े लिंग के स्वामी होने से औरतों को आसानी से आनंद आता है और स्विमिंग पूल या सौना में शर्म भी नहीं आती।

कुछ पुरुषों को अपने प्यार में रिश्ते सुधारकर, अच्छी नौकरी पा लेने से या चिंता वाले मुद्दे हल कर लेने से असुरक्षा की भावना से मुक्ति मिल जाती है क्योंकि तब आपके पास अन्य चीजों के लिए चिंता करने का समय ही नहीं होता। लेकिन कई लोग अपने लिंग को बड़ा करने के लिए ज़िंदगी भर परेशान रहते हैं। इनमें से केवल 10-15% लोग ही ऐसे होते हैं जिनका लिंग छोटा होता है। छोटे लिंग के कई कारण हो सकते हैं जैसे, आनुवांशिक कारण, किशोरावस्था आने में विलंब, चोट लगना या अन्य कारक। यदि किसी आदमी को अपना लिंग बड़ा करके साइज़ सामान्य करना हो तो लिंग बड़ा करने का ऑपरेशन या लीगमेंटोटॉमी करवाई जा सकती है।

लिंग को बड़ा कैसे करें?

इंटरनेट में लिंग बड़ा करने के विभिन्न तरीकों के बारे में ढेरों जानकारी उपलबद्ध है। इस विषय में कोई एंड्रोलॉजिस्ट या सेक्सोलॉजिस्ट भी आपको पर्याप्त जानकारी दे सकते हैं। वास्तव में डॉक्टरों की सलाह उन संदिग्ध विधियों से ज़्यादा भरोसेमंद होती है जो काम नहीं आतीं और कभी-कभी तो स्वास्थ्य को नुक्सान भी पहुंचा सकती हैं।

आप अपने लिंग को बड़ा करने के लिए निम्नलिखित विधियाँ इस्तेमाल कर सकते हैं:

  •  दवाइयाँ;
  •  ओर्थोपेडिक उपकरण;
  •  क्रीम और जैल;
  •  ऑपरेशन:

हम सलाह देंगे कि आप पहली 3 विधियों के लिए किसी डॉक्टर से सलाह लें। कोई विशेषज्ञ डॉक्टर ही आपके लिए सही इलाज चुनने में आपकी मदद कर सकता है। लेकिन यदि आपको लंबाई ज़्यादा बढ़ाना है तो इनमें से कोई भी विधि आपके काम नहीं आएगी। यही नहीं, ये काफी खर्चीली भी होती हैं।

ऑपरेशन करवाने के निम्नलिखित फायदे होते हैं।

  1. प्रोफेशनलिज़्म। केवल उच्च योग्यता वाले विशेषज्ञ ही इस तरह के ऑपरेशन करते हैं। इसलिए गड़बड़ियों या साइड-इफेक्ट का जोखिम कम होता है।
  2. तेज नतीजे। पोस्ट-रीहैबिलिटेशन अवधि के बाद नतीजे तुरंत दिख जाते हैं। आपको बिना ऑपरेशन वाले तरीकों की तुलना में महीनों इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा।
  3. समान खर्च। इस तरह के ऑपरेशन में विशेष कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स और ओर्थोपेडिक उपकरण के लगभग बराबर ही खर्च आता है।

ऑपरेशन तब किया जाता है जब मेडिकल रूप से ऐसा जरूरी हो। लेकिन यदि आपके पास पैसा हो तो आपके अनुरोध पर किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में कभी भी ऑपरेशन किया जा सकता है।

FREE Fast Shipping offer for our readers:

  • पहले और दूसरे सप्ताह में:
    कड़ापन लम्बे समय के लिए कठोर बन जाता है, लिंग की संवेदनशीलता २ गुना तक बढ़ जाती है. परिणाम नज़र आने लगते हैं – क्योंकि आपके लिंग का आकार १.५ सेमी. तक बढ़ चुका होता है.1
  • दूसरे और तीसरे सप्ताह में:
    पहले से आपके लिंग में आकार वृद्धि दर्शित होने लगती है, यह संरचनात्मक रूप से एकदम सटीक बन जाता है. सम्भोग का समय ७०% तक बढ़ जाता है!2
  • चौथे सप्ताह में और उससे आगे:
    लिंग ४ सेमी. तक बढ़ जाता है! सम्भोग का आनंद पहले से और भी अच्छा हो जाता है. ओर्गेज़्म लम्बे समय के होते हैं जो कि ५-७ मिनट तक चलते हैं!

ऑपरेशन की जरूरत कब होती है

कुछ डॉक्टर अपने मरीजों को लिंग बड़ा करने के ऑपरेशन की सलाह देते हैं।

ध्यान दें! एक औसत खड़े लिंग का साइज़ 12-16 सेमी होता है। यदि आपके लिंग की लंबाई 12 सेमी से कम हो तो ऑपरेशन करवाना एक रास्ता हो सकता है।

मेडिकल आवश्यक्ताओं में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

  •  पेरोनी डिजीज़;
  •  कैवर्नस फाइब्रोसिस;
  •  हाइपोस्पेडिया;
  •  एपिस्पेडिया;
  •  जननांग में चोट जिससे लिंग छोटा हो गया हो;
  •  आनुवांशिक पृष्ठभूमि;
  •  उम्र संबंधी बदलाव।

ऑपरेशन का तरीका

लिंग एक बहुत जटिल अंग होता है। ऑपरेशन करके लिंग खड़ा रखने वाले अस्थिबंध या लीगमेंट को काटकर इसकी लंबाई बढ़ाई जा सकती है।

लीगमेंट कट जाने से लिंग का आंतरिक ऊतक रिलीज़ हो जाता है और हड्डी से थोड़ा अलग हो जाता है। इसके बाद लिंग को एक खास पोसिशन में जोड़ दिया जाता है जिससे लीगमेंट अपनी पहले की अवस्था में न जाए। एक एक्सटेंडर का उपयोग करके सर्जन लिंग को नीचे खींच देता है। ऐसा करने से लिंग का छिपा हुआ हिस्सा पेट और जाँघ के बीच के भाग से रिलीज़ हो जाता है। ऑपरेशन के बाद लीगमेंट नई पोसिशन में आ जाता है और बड़ा हुआ लिंग पहले की तरह की काम करता है।

ध्यान दें! ऑपरेशन के नतीजे डॉक्टर के कौशल और खुद मरीज पर निर्भर करते हैं। लीगमेंटोंटॉमी के 2 महीने के भीतर मरीज को रोज एक एक्सटेंडर का उपयोग करके लिंग और बड़ा करने की कोशिश करनी चाहिए।

रिकवरी के दौरान एक्सटेंडर पहनना अनिवार्य होता है। इसे लिंग मुंड पर सही तरीके से रखना बहुत जरूरी होता है जिससे उसकी त्वचा न खिंचे।

पहले कुछ दिनों में एक्सटेंडर को रोज 2 घंटे लगाना चाहिए। धीरे-धीरे पहनने का समय 8 घंटे तक कर देना चाहिए। रिकवरी पीरियड के दौरान डॉक्टर को मरीज की अवस्था पर निगरानी रखनी चाहिए।

कई लोग जल्द-से-जल्द नतीजे देखना चाहते हैं और शुरुआत से ही लंबे समय तक एक्सटेंडर पहनना शुरू कर देते हैं जिससे लिंग जरूरत से जल्दी स्ट्रेच हो जाता है। ऐसा कभी न करें क्योंकि ज़्यादा खिंचाव से लिंग के ऊतकों का आकार कम हो जाता है। यही नहीं, मरीज को ऑपरेशन के तुरंत बाद एक्सटेंडर पहनने पर प्रतिबंध होता है। यह सावधानी न बरतने पर ऊतक रिकवर नहीं होंगे और लिंग वांछित रूप से बड़ा नहीं होगा।

Couple Relaxing In Bed Wearing Pajamas Lying Down Laughing

ऑपरेशन

लीगमेंटोंटॉमी जनरल या स्पाइनल एनेस्थीसिया देकर की जाती है। स्पाइनल एनेस्थीसिया (जिसमें कमर और उससे नीचे का हिस्सा सुन्न हो जाता है) को मरीज बेहतर सहन कर पाते हैं।

इस ऑपरेशन में पेट खोलने की जरूरत नहीं होती। पूरा ऑपरेशन अंडकोशों में चीरा लगाकर कर दिया जाता है। ऑपरेशन में 15-50 मिनट लगते हैं। प्रक्रिया पूरी होने के बाद टाँके लगा दिये जाते हैं। कुछ दिनों बाद इसका दाग दिखाई देना लगभग बंद हो जाता है।

यदि ऑपरेशन सफल रहता है तो 2 हफ्ते बाद टाँके निकाल दिए जाते हैं। टाँके खोलने से पहले एक्सटेंडर पहना जाता है जिससे लिंग सही पोसिशन में बना रहे। लीगमेंट को पूरा ठीक होने में एक साल लगता है।

चेतावनी! लीगमेंटोंटॉमी को सबसे सुरक्षित ऑपरेशन माना जाता है। इससे मरीज के स्वास्थ्य को कोई नुक्सान नहीं पहुँचता।

ऑपरेशन के 2 हफ्ते बाद तक सेक्स करने की मनाही होती है। यदि लिंग पूरा रिकवर कर गया हो तो टाँके हटाने के बाद सेक्स किया जा सकता है।

प्रतिबंध

  1. बहुत बड़ा लिंग (18 सेमी से ज़्यादा)।
  2. ऑपरेशन की जगह त्वचा की कोई बीमारियाँ।
  3. मूत्र-जननांग प्रणाली में इन्फेक्शन या इन्फ़्लेमेशन।
  4. मूत्र प्रणाली की जन्मजात बीमारियाँ।
  5. चिकनी कोरोनल सल्कस।

लीगमेंटोंटॉमी के इच्छुक हर आदमी को मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए। इसलिए ऑपरेशन के पहले किसी मनोवैज्ञानिक से मिलें। मनोवैज्ञानिक विकारों से ग्रस्त लोगों के लिए ऑपरेशन की सख्त मनाही होती है।

अंतिम शब्द

ऑपरेशन से अपना लिंग बड़ा करने की प्लानिंग कर रहे लोगों के जहन में सबसे बड़ा सवाल होता है, “क्या ऑपरेशन के बाद मेरी ज़िंदगी में बदलाव आएगा?”। आँकड़ों के अनुसार 98% पुरुष दावा करते हैं कि उनका सेक्स जीवन बेहतर और ज़्यादा जोशीला हो गया। उनका लिंग साइज़ कुछ सेंटीमीटर बढ़ गया जिससे आत्म-विश्वास आ गया। पुरुष बिस्तर पर अच्छा काम करने लगे और उनका स्तंभन ज़्यादा शक्तिशाली और कठोर होने लगा। इससे उनके जीवन के अन्य क्षेत्रों पर भी असर पड़ा: नौकरी, दूसरों से रिश्ते, आदि।


शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

1 टिप्पणी

  1. धर्मवीर कहते हैं

    नमस्कार
    मेरा लिंग साइज़ 9 cm है और पतला भी है मै अपने लिंग का साइज बढ़वाना चाहता हूं कृपया मेरा उचित मार्गदर्शन करें ट्रीटमेंट का खर्चा भी बताएं ओर सुपर स्पेसलिस्ट डॉक्टर भी बताएं

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।