An ointment for penis enlargement

कई बार लिंग का साइज़ औसत होने से पुरुष तनावग्रस्त हो जाते हैं, उन्हें काफी अवसाद हो जाता है और इससे नामर्दी भी हो सकती है। ठीक से खड़ा होना और लिंग का अच्छा साइज़ एक अच्छी मर्दानगी और स्वास्थ्य की निशानी होते हैं। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि कई पुरुष मन हे मन अपने लिंग का साइज़ बड़ा करना चाहते हैं और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। यही कारण है कि कई उत्पादक लिंग बड़ा करने के अलग-अलग तरीके और उपकरण मार्केट में लाते रहते हैं। इनमें सबसे लोकप्रिय प्रोडक्ट होते हैं ओईंट्मेंट्स। इन प्रोडक्ट्स के विज्ञापन काफी आकर्षक होते हैं। आपको बस अपने लिंग पर दिन में दो बार ओईंट्मेंट लगाना है और बस एक महीने में आपका लिंग बड़ा हो जाएगा। कई उत्पादक तो अपने प्रोडक्ट्स से मात्र दो महीने में 2”-2.5” तक की बढ़त हो जाने जैसे जबर्दस्त नतीजों के दावे भी करते हैं। मार्केट में हर तरह की जरूरत और बजट के लिए प्रोडक्ट उपलब्ध हैं। लेकिन जब आप अपने लिंग को बड़ा करने का लक्ष्य बना चुके हैं तो आपको अपने खुद के स्वास्थ्य का ख़्याल रखकर समझदारी से काम लेना चाहिए। ऐसे किसी भी जादुई प्रोडक्ट को लेने के पहले आपको इसके फ़ायदों और नुक़सानों को अच्छी तरह समझ लेना चाहिए।

लिंग बड़ा करने के ओईंट्मेंट्स के बारे में सच्चाई और अवधारणाएँ

चलिए लिंग बड़ा करने के ओईंट्मेंट्स के बारे में सच्ची बातों और प्रचलित अवधारणाओं पर एक गहरी नज़र डालते हैं:

पुरुष के सबसे महत्वपूर्ण अंग को बड़ा करने के लिए ओईंट्मेंट सबसे सस्ता विकल्प हैं।

यदि आप ऑनलाइन विज्ञापनों पर एक नज़र डालेंगे तो आपको ज़्यादातर लिंग बड़ा करने का दावा करने वाले चमकीले बैनर जरूर दिख जाएंगे। ये औसतन रु 4,000 से लेकर रु 6,500 के बीच सस्ती कीमत पर उपलब्ध होते हैं। पहली नज़र में तो ये बड़े सस्ते और किफ़ायती नज़र आते हैं लेकिन सच्चाई यह है कि हर ट्यूब में 50-100 मिली से ज़्यादा मात्रा नहीं होती और इनके निर्देशों के अनुसार इन्हे रोज कई बार लगाना जरूरी होता है। यदि इस तरह 4-6 महीने किया जाए तो काफी खर्च आ जाता है। यही नहीं, ऐसे अधिकतर प्रोडक्ट्स के साथ दिए गए निर्देश स्पष्ट रूप से कहते हैं कि इसका असर तभी संभव है जब ओईंट्मेंट के साथ एक्सटेंडर और वैक्यूम पंप की मदद से व्यायाम किए जाएँ। इसका अर्थ यही है कि आपको इन मंहगे उपकरणों पर और पैसे खर्च करने पड़ेंगे जबकि आप इन उपकरणों से वैसे ही नतीजे पा सकते हैं।

ओईंट्मेंट लिंग लंबा करने का सबसे सरल तरीका है।

बस इसे दिन में दो बार अपने लिंग पर लगाइए और व्यायाम और झंझट वाले तरीकों को भूल जाइए। कम से कम विक्रेता तो यही बताते हैं। ओईंट्मेंट बनाने वाले अधिकतर उत्पादक दावा करते हैं कि उनके प्रोडक्ट से एक महीने में आपका लिंग लंबा हो जाएगा और इसे लंबे समय तक उपयोग करने से 2” तक की बढ़त मिल सकती है। ये संख्याएँ काफी आकर्षक लगती हैं; लेकिन इन क्रीमों को लगाने वाले वास्तविक लोगों की प्रतिक्रियाएँ पढ़कर साफ होता है कि लिंग में बढ़त अल्पकालिक होती है और लंबाई और मोटाई भी 0.2” से ज़्यादा नहीं बढ़ती और ये भी रक्त का अचानक प्रवाह बढ़ जाने के कारण आती है। यही नहीं, इसके नतीजे तभी नज़र आते हैं जब लिंग खड़ा हो। ओईंट्मेंट लिंग लंबा करने का सबसे सरल तरीका हैं।

पहला संदेह तो इनके निर्देश पढ़ने से ही आता है जिसमें लिखा होता है कि इस ट्रीटमेंट के साथ मसाज करनी पड़ेगी जिससे कॉर्पोरा कैवर्नोसा में रक्त का प्रवाह बढ़ जाए। और तभी अधिकतर लोगों को पता चलता है कि उन्हें कोई रामबाण नहीं मिला है। क्रीम से सिर्फ रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है जिससे कॉर्पोरा कैवर्नोसा के अंदर रक्त अच्छे से भरता है और खड़ेपन में सख्ती आ जाती है। लेकिन यदि पुरुष के खड़ेपन में कोई समस्या नहीं है तो इसका असर ज़ीरो हो सकता है। यही नहीं, लिंग में दिखाई देने वाला असर कुछ ही समय तक रहता है। उत्पादक सलाह देते हैं कि क्रीम को सेक्स के तुरंत पहले लगाना चाहिए क्योंकि क्रीम का असर दो घंटे तक ही चलता है।

ट्रीटमेंट खत्म होने के बाद ओईंट्मेंट लगाने वाले लगभग सभी पुरुष यही रिपोर्ट करते हैं कि लिंग सिकुड़ कर अपने पुराने साइज़ पर वापस आ जाता है। ऐसा होना लाज़मी है क्योंकि लिंग की संरचना हृदय और किडनी की तरह ही होती है। ओईंट्मेंट लगाकर कोई अपने नए उत्तक नहीं बना सकता। यदि ऐसा होता तो मसल बनाने के लिए किसी बॉडी-बिल्डर को वजन उठाने, कड़ी एक्सर्साइज़ करने और खास सप्लिमेंट लेने की जरूरत ही नहीं पड़ती। आखिर कोई इतना झंझट क्यों लेगा, सीधे अपनी बॉडी पर जादुई क्रीम लगाओ और आपकी मसल खरपतवार की तरह बढ़ नहीं जाएंगी? दुर्भाग्य से प्रकृति में ऐसा संभव नहीं है और मसल में बढ़त तभी संभव होती है जब आप ठीक से और नियमित रूप से व्यायाम करें।.

ओईंट्मेंट लिंग लंबा करने का सबसे सरल तरीका है।

 

यही बात लिंग के उत्तकों के लिए भी सच है। लिंग लंबा करने के लिए नियमित व्यायाम करना जरूरी होता है। आप एक्स्टेंडर, वैक्यूम उपकरण और जेल्क़िंग इस्तेमाल कर सकते हैं। उत्तक सिर्फ तभी बड़े होंगे व्यायाम करेंगे और आपकी मांसपेशियों पर कोई यांत्रिक असर पड़ेगा। इन्के साथ आप उत्पादक के निर्देशों के अनुसार ओईंट्मेंट लगा सकते हैं क्योंकि इनके उपयोग से व्यायाम का असर काफी बढ़ जाता है। यह सच है कि रक्त का प्रवाह अधिक हो जाने से लिंग के व्यायामों के नतीजे काफी बेहतर हो जाते हैं। लिंग जल्दी रिकवर करता है और नई कोशिकाएँ बनाता है। व्यायाम के साथ ओईंट्मेंट लगाने से आपका लिंग वास्तव में बढ़ सकता है।

लिंग लंबा करने के ओईंट्मेंट पूरी तरह सुरक्षित हैं।

उत्पादक यह भरोसा दिलाते हैं कि उनके नुस्खे पूरी तरह सुरक्षित हैं। लेकिन यदि आप इनमें मिली सामग्रियों को ध्यान से देखेंगे तो हो सकता है आपको कई नुकसानदेह चीजें मिल जाएँ। ऐसे प्रोडक्ट्स को अधिकतर ऐसे पदार्थों से बनाया जाता है जिससे स्लाइडिंग बेहतर हो जाए।

इनमें अधिकतर ऐसे पदार्थ होते हैं जो रक्त के प्रवाह को तीव्र कर देते हैं। यदि ये 100% प्राकृतिक हों, जैसे समुद्री शैवाल, तब भी साइड-इफेक्ट होने की संभावना होती है। हर तीसरे या चौथे पुरुष को इन पदार्थों से एलर्जी हो सकती है। ये एलर्जी लोकल (त्वचा पर दाग, जलन, खुजली होना, लाल हो जाना) हो सकती हैं या फिर आंतरिक (सूजन, बुखार, नाक बहना) हो सकती हैं। ऐसी स्थिति में न सिर्फ आपको कोई नतीजा नहीं मिलेगा, यह भी हो सकता है कि आपकी संवेदना पूरी तरह से चली जाए और आपके सेक्स-जीवन का पूरी तरह अंत हो जाए।

ओईंट्मेंट जब जरूरत हो तब लगाया जा सकता है।

यह सच है। यदि आप अल्पकालिक असर से संतुष्ट हैं तो आप इस प्रोडक्ट को उपयोग कर सकते हैं और सेक्स के दौरान अपने लिंग की मोटाई और खड़ेपन को बढ़ा सकते हैं। एक ओईंट्मेंट से आपकी मर्दानगी कुछ समय के लिए बड़ी हो जाएगी, आप ढीलेपन को भूल जाएंगे, आपका आत्म-विश्वास बढ़ जाएगा और बिस्तर पर आप काफी बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। यह एक समझदार, स्मार्ट और किफ़ायती तरीका है।

गोपनीयता।

एक्सटेंडर के विपरीत ओईंट्मेंट को आप कभी भी लगा सकते हैं और किसी को कुछ पता नहीं चलेगा। एक्सटेंडर लगाने से फुलाव दिखने लगता है जो सभी पुरुषों को पसंद नहीं आता। साथ ही आप ऑफिस जाने के पहले अपने लिंग पर ओईंट्मेंट लगा के जा सकते हैं। आप अपना काम कीजिए और ओईंट्मेंट अपना काम करता रहेगा। हाँ, इस “काम” का कितना असर होगा यह प्रमाणित नहीं है।

उम्र की कोई सीमाएं नहीं हैं।

लिंग पर गहरा असर डालने वाली अधिकतर तकनीकें जैसी ऑपरेशन में पुरुष का वयस्क होना जरूरी है। इसके विपरीत ओईंट्मेंट तो किशोर भी लगा सकते हैं।

लिंग लंबा करने के विभिन्न ओईंट्मेंट।

उपयोग की अवधि और लगाने के तरीके के आधार पर लिंग लंबा करने के कई प्रकार के ओईंट्मेंट आते हैं। कई ओईंट्मेंट ऐसे होते हैं जिन्हें सेक्स के ठीक पहले लगाना होता है जिससे थोड़े समय के लिए रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है और लिंग बड़ा हो कर सख्ती से खड़ा होने लगता है। इससे लिंग के छोटे साइज़ और ढीलेपन से कुछ समय के लिए आराम मिलता है और सेक्स के दौरान आत्म-विश्वास बढ़ जाता है। दीर्घकालिक ओइटमेंट्स आपके शरीर के मैटाबॉलिज़्म को तेज करके कॉर्पोरा कैवर्नोसा में नई कोशिकाओं का निर्माण करते हैं। यही प्रोडक्ट सबसे ज़्यादा लोकप्रिय हैं हालांकि इनकी प्रभावशीलता पूरी तरह से प्रमाणित नहीं है। एक और विकल्प है रक्त का प्रवाह बढ़ाने वाले सहायक ओईंट्मेंट लगाना और व्यायाम के दौरान वैक्यूम पंप या एक्सटेंडर की मदद स्लाइडिंग करना और जेल्क़िंग।

लिंग लंबा करने के विभिन्न ओईंट्मेंट।

 

उपयोग

लगभग हर उत्पादक ओईंट्मेंट लगाने की अपनी खुद की तकनीक बताता है। इन सभी में एक सलाह एक जैसी होती है और वो है लिंग पर ओईंट्मेंट की एक पतली परत लगाना क्योंकि इसमें ऐसे पदार्थ होते हैं जो रक्त के प्रवाह को बढ़ा देते हैं। इन प्रोडक्ट्स को जरूरत से ज़्यादा लगाने से गंभीर समस्याएँ हो सकती हैं। यही नहीं, जब आप किसी नुस्खे का चुनाव कर रहे हों तो आपको इसमें मिले पदार्थों को ध्यान से पढ़ना चाहिए कि कहीं इनमें कोई जाने-माने एलर्जी करने वाले पदार्थ तो नहीं मिलाए गए हैं। दुर्भाग्य से यह सावधानी बरतने पर भी इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपको व्यक्तिगत रूप से कोई परेशानी नहीं आएगी। इसलिए यदि आप किसी प्रोडक्ट को पहली बार उपयोग करते हैं तो आपको पहले अपनी त्वचा के एक छोटे से हिस्से पर प्रोडक्ट लगाकर यह जरूर टेस्ट करना चाहिए कि आपकी बॉडी को रिएक्शन तो नहीं हो रहा।

अच्छा असर प्राप्त करने के लिए ओईंट्मेंट को लिंग पर हल्की-हल्की मसाज करते हुए लगाना चाहिए। इससे पदार्थ ठीक से अंदर जाते हैं और त्वचा द्वारा जल्दी से सोख लिए जाते हैं। आम तौर पर अधितकर नुस्खों को सेक्स के पहले उपयोग करना चाहिए। जब एक ओईंट्मेंट एक सहायक (औक्सिलरी) ओईंट्मेंट हो तो इसे जेल्क़िंग करने या लिंग को वैक्यूम पंप या एक्स्टेंडेर से खींचने के पहले लगाना चाहिए। इससे रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है और नई कोशिकाएँ बनने लगती हैं।

लिंग एक पुरुष के शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग होता है। इसके साइज़ और परिस्थिति से ही एक पुरुष के आत्म-विश्वास का निर्धारण होता है। यही कारण है कि अपने प्राकृतिक साइज़ से नाखुश पुरुष लिंग लंबा और मोटा करने के विभिन्न तरीकों जैसे, ओईंट्मेंट्स, मेकैनिकल उपकरण, दवाइयाँ, व्यायाम और यहाँ तक कि ऑपरेशन का भी सहारा लेते हैं। सबसे सरल, दर्द-रहित और सुरक्षित विकल्प है ओईंट्मेंट्स लगाना। दुर्भाग्य से इनके उत्पादकों द्वारा उपयोग की जाने वाली असरदार फोटो और स्लोगन के बाद भी सबसे मंहगे और क्वालिटी ओईंट्मेंट अकेले खुद दीर्घकालिक और दृश्य असर नहीं दे सकते।

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक

1 टिप्पणी

  1. Rajiv कहते हैं

    Yaar andruni taakat bhi aayegi kya isse

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।