टेस्टोस्टेरोन के बारे में संपूर्ण जानकारी

टेस्टोस्टेरोन के बारे में संपूर्ण जानकारी
Rate this post

टेस्टोस्टेरोन की पूर्ण गाइड

टेस्टोस्टेरोन, पुरुषों और महिलाओं के लिए एक जरूरी हार्मोन है। यह आपकी हड्डी और मांसपेशी की वृद्धि के साथ-साथ शरीर के बालों की बढ़त को प्रभावित करता है, लेकिन टेस्टोस्टेरोन आपकी सेक्स की इच्छा, प्रजनन क्षमता, लाल रक्त कोशिका का उत्पादन और यहां तक कि आपके मूड को भी प्रभावित करता है।

निम्न टेस्टोस्टेरोन आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के अनेक क्षेत्रों को प्रभावित कर सकता है, और टेस्टोस्टेरोन बदलाव उपचार के अपने जोखिम और लाभ हैं। टेस्टोस्टेरोन क्या करता है, आप इसे कैसे बनाते हैं और यह क्यों इतना महत्वपूर्ण है, इस बारे में जानें।

पुरुष टेस्टोस्टेरोन कैसे बनाते हैं

पुरुष अपना लगभग सारा टेस्टोस्टेरोन अपने अंडकोष में बनाते हैं। जब आपका दिमाग आपके खून में निम्न टेस्टोस्टेरोन महसूस करता है तो यह हार्मोनों की एक जटिल चेन प्रतिक्रिया को शुरु करता है। यह अंडकोषों की लेडिग कोशिकाओं में टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन को शुरु करता है। (महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन उत्पादन मुख्य रूप से अंडाशय में होता है)। आपकी एड्रेनल ग्रंथि भी थोड़ा टेस्टोस्टेरोन पैदा करती है।

टेस्टोस्टेरोन उत्पादन के 7 चरण

  1. जब आपका दिमाग टेस्टोस्टेरोन के निम्न स्तर को महसूस करता है तो यह GnRH हार्मोन बनाता है
  2. इससे पिट्यूटरी ग्रंथि दो और हार्मोन—फॉलिकल स्टिम्युलेटिंग हार्मोन (FSH) और ल्यूटिनाइज़िंग हार्मोन (LH) बनाती है
  3. FSH, स्पर्म के उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण है
  4. LH आपके अंडकोषों में टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन को शुरु करता है
  5. टेस्टोस्टेरोन आपके रक्त के प्रवाह में मुक्त होता है
  6. आपका दिमाग सामान्य टेस्टोस्टेरोन स्तरों को महसूस करता है और GnRH को बंद करता है जिससे टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन बंद हो जाता है
  7. जब आपका दिमाग टेस्टोस्टेरोन के निचले स्तर को महसूस करता है तो यह GnRH का अधिक निर्माण करता है और यह चक्र फिर से शुरु हो जाता है

टेस्टोस्टेरोन के बारे में संपूर्ण जानकारी

आपके टेस्टोस्टेरोन स्तर हमेशा बदलते रहते हैं

टेस्टोस्टेरोन उत्पादन को दिमाग से बॉल थर्मोस्टेट की तरह से देखें। जब टेस्टोस्टेरोन स्तर कम हो जाता है, तो आप वे हार्मोन बनाते हैं जो टेस्टोस्टेरोन उत्पादन को शुरु करते हैं। जब आप “पर्याप्त” टेस्टोस्टेरोन उत्पादन करते हैं तो आपका दिमाग हार्मोन स्विच को पलटता है और उत्पादन बंद हो जाता है। यह ऑन/ऑफ चक्र इस तथ्य का हिस्सा है कि क्यों सुबह टेस्टोस्टेरोन स्तर उच्च रहते हैं क्यों पूरे दिन टेस्टोस्टेरोन स्तर क्यों बदलता रहता है।

टेस्टोस्टेरोन आपके शरीर में क्या करता है?

टेस्टोस्टेरोन आपके शरीर को कई महत्वपूर्ण तरीकों से प्रभावित करता है। यह सीधे तौर पर आपकी वृद्धि, यौन स्वास्थ्य और पुरुषों और महिलाओं दोनो में जरूरी शारीरिक प्रकार्यों के लिए उत्तरदायी है। विशिष्ट रूप से टेस्टोस्टेरोन, प्रभावित करता है आपकी:

  • हड्डी और मांसपेशीय वृद्धि
  • यौनेच्छा व प्रदर्शन
  • उर्वरता
  • लाल रक्त कोशिका उत्पादन
  • चेहरे व शरीर के बालों की वृद्धि
  • आपकी आवाज़ की पिच
  • यहां तक कि आपका मूड

टेस्टोस्टेरोन अंडकोषों में स्वस्थ स्पर्म उत्पादन को बढ़ावा देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लेकिन टेस्टोस्टेरोन के बारे में सबसे मजेदार बात यह है कि आपका शरीर, इसके उत्पादन के केवल 2% का उपयोग करता है।

आपका अधिकांश टेस्टोस्टेरोन अक्रिय होता है

आपके सिस्टम का लगभग 98% टेस्टोस्टेरोन पूरी तरह से अक्रिय होता है।वाकई।यह कुछ भी नहीं करता है।

यह जटिल है, लेकिन आपका अधिकांश टेस्टोस्टेरोन आपके रक्त में SBGH हार्मोन कही जाने वाली एक दूसरी चीज से जुड़ जाता है। शेष हिस्सा या तो किसी अन्य रसायन में मेटाबोलाइज़ हो जाता है, अंडकोषों में (पुरुषों में) स्पर्म के निर्माण के लिए भंडार कर लिया जाता है, या आपके शरीर द्वारा उपरोक्त बताए गए दूसरे कार्यों को पूरा करने के लिए उपयोग हो जाता है।

टेस्टोस्टेरोन बदलना

यह टेस्टोस्टेरोन क्रीमों या टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शनों की ही तरह टेस्टोस्टेरोन बदलाव थेरेपी के लिए भी सत्य है। आपका शरीर 90% से अधिक टेस्टोस्टेरोन को मेटाबोलाइज़ या बाइंड करता है और शेष को मूत्र या मल में डाल देता है, जिससे मात्र ~2% आपके रक्त प्रवाह में उपयोग होने के लिए शेष बचता है।

इसीलिए निम्न टेस्टोस्टेरोन स्तर बहुत नाजुक होते हैं। यहां तक कि आपके “मुक्त” टेस्टोस्टेरोन (आपके रक्त में मुक्त, सक्रिय टेस्टोस्टेरोन) में छोटी सी भी कमी आपके संपूर्ण स्वास्थ्य में बड़ा प्रभाव डाल सकती है। और पुरुषों में उम्र के साथ टेस्टोस्टेरोन के स्तर कम होते जाते हैं।

टेस्टोस्टेरोन के बारे में संपूर्ण जानकारी

निम्न टेस्टोस्टेरोन के आम कारण

निम्न टेस्टोस्टेरोन तब होता है जब किसी पुरुष के टेस्टोस्टेरोन स्तर 300 ng/dL से कम हो जाता है। निम्न टेस्टोस्टेरोन का मुख्य कारण हाइपोगोनाडिज़्म—है जो कि एक ऐसी स्थिति है जहां पर अंडकोष सही तरीके से काम नहीं करते हैं। निम्न टेस्टोस्टेरोन (निम्न T) के कारणों निम्नलिखित शामिल हैं:

  • डायबिटीज
  • मोटापा
  • खराब आहार
  • मादक पदार्थ, तंबाकू, शराब का सेवन

मोटापा संभवतः निम्न T का सबसे बड़ा कारण है, विशेष रूप से पेट का मोटापा। अतिरिक्त शरीर चर्बी से पुरुषों में एस्ट्रोजन उत्पादन बढ़ सकता है।

पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन स्तर बदलता रहता है

यदि आपके टेस्टोस्टेरोन स्तर कम हों तो परेशान न हों। पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन स्तर 20 बरस की उम्र में शीर्ष पर होने के बाद हर साल लगभग 1% की दर से कम होता जाता है। इसीलिए 50-60 बरस की उम्र वाले पुरुषों में निम्न टेस्टोस्टेरोन काफी आम होता है। आपका टेस्टोस्टेरोन स्तर पूरे दिन में भी लगातार बदलता रहता है।

पुरुषों में आमतौर पर रात की तुलना में सुबह अधिक टेस्टोस्टेरोन होता है। इसलिए इसका परीक्षण सुबह में कराना सुनिश्चित करें और इस बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें कि आपकी उम्र, जीवन शैली, आदतों तथा दूसरे स्वास्थ्य जोखिमों के संबंध में आपके टेस्टोस्टेरोन के सामान्य स्तरकैसे होते हैं। सभी लोग भिन्न-भिन्न हैं।

पुरुषों में सामान्य टेस्टोस्टेरोन स्तर

किसी स्वस्थ पुरुष में सामान्य टेस्टोस्टेरोन स्तर 300-1,100 ng/dL होता है। यह एक बड़ा स्पेक्ट्रम है, और अनेक स्वस्थ लोग भिन्न-भिन्न स्थानों पर इस सीमा में आ जाते हैं। क्योंकि जब टेस्टोस्टेरोन स्तर की बात होती है तो “स्वस्थ” का अर्थ हर एक के लिए भिन्न-भिन्न होता है। (तुलना के लिए, महिलाओं के लिए स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन स्तर 2 – 45 ng/dL) के बीच होता है।

आपके टेस्टोस्टेरोन स्तर मुख्य रूप से तीन मुख्य कारकों पर निर्भर करते हैं:

  • आपकी उम्र
  • जेनेटिक्स
  • मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियां

टेस्टोस्टेरोन स्तर पुरुषों में उम्र के साथ घटता जाता है

पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का शीर्ष स्तर 20 बरस की उम्र में (आम तौर पर 25 से पहले) होता है। फिर हर साल लगभग 1% की दर से टेस्टोस्टेरोन घटता जाता है। स्वाभाविक है कि यह गिरावट कई कारणों से होती है। मोटापे कारण टेस्टोस्टेरोन स्तर काफी हद तक कम हो सकते हैं। लेकिन पुरुषों में बस उनकी उम्र के साथ टेस्टोस्टेरोन का उत्पाद घटता जाता है। कभी नोटिस किया है कि किस तरह से पुरुष अपनी बढ़ती उम्र के साथ “मृदु” होते जाते हैं? ऐसे होने के कारणों में उनके घटते टेस्टोस्टेरोन स्तर भी शामिल हैं।

टेस्टोस्टेरोन स्तरों में बदलाव

आपके टेस्टोस्टेरोन स्तर पूरे दिन बदलते रहते हैं। टेस्टोस्टेरोन सुबह शीर्ष में होते हैं (आपके सुबह के स्तंभन के साथ बढ़ते हुए), और दोपहर में कम हो जाते हैं। इसीलिए आपके शीर्ष टेस्टोस्टेरोन स्तरों को देखने के लिए अपने टेस्टोस्टेरोन स्तरों की जांच सुबह कराना बेहतर होता है।

यदि आपको निम्न टेस्टोस्टेरोन के लक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *